- Advertisement -

पंचशील ग्रीन्स-2 सोसाइटी में बिजली काटने को लेकर हुआ बवाल, निवासियों से हाथापाई की कोशिश

Ten News Network

0 242

ग्रेटर नोएडा :– ग्रेटर नोएडा से हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां पंचशील ग्रीन्स 2 में रह रहे निवासियों को इस तपतपाती गर्मी में जोरदार झटका तब लगा जब 2 दिन पहले 11 जून को उनके फ्लैटों में बिजली कटनी शुरू हुई।

 

लोगों ने जब मेंटेनेंस ऑफिस में फोन करना शुरू किया तो यह पता चला कि बिजली के मीटर को पोस्टपेड से प्रीपेड में कन्वर्ट कर दिया गया है। जिसके बाद लोगों में अफरा-तफरी मच गई क्योंकि बिल्डर के द्वारा उसी दिन दोपहर में ईमेल के माध्यम से कुछ फ्लैट ओनर को इसकी सूचना दी गई।

 

जहां एक और कोरोना से बचाव के लिए सरकार सोशल डिस्टेंसिंग एवं भीड़ भाड़ वाली जगहों से बचने की सलाह दे रही है, वही पंचशील मैनेजमेंट जान बूझकर इस महामारी में भीड़ इकट्ठा करवाने की साजिश रच रहा था।

जब कुछ लोगों ने प्रीपेड ऐप से रिचार्ज करवाया तो उनके पैसे फटाफट कटने लगे जिसके कारण पूरा दिन अफरा-तफरी मची रही। कुछ लोगों के ₹2 से 4 हज़ार तक रिचार्ज के कट गए।

 

अगले दिन निवासियों के समूह ने मेंटेनेंस को एक मांग पत्र सौंपा जिसमें यह कहा कि उन्हें यह प्रीपेड सिस्टम मंजूर नहीं है और पुराने पोस्टपेड मीटर को बहाल किया जाए और जब तक यह नहीं होता है तब तक किसी की बिजली ना काटी जाए।

 

निवासियों को प्रीपेड मीटर में मुख्य रूप से यह दिक्कत आ रही थी। कि ऐप में मीटर की रीडिंग काफी तेजी से चल रहा था जिस से उनके पैसे जल्दी जल्दी कटते जा रहे थे जिसके कारण बैलेंस निगेटिव में जाने के बाद बिजली कट रही थी एवं बिल्डर के द्वारा जबरदस्ती ऐप शुल्क के रूप में ₹2 प्रतिदिन के हिसाब से निवासियों के ऊपर चार्ज थोपा जा रहा है।

 

लोगों का कहना है कि जिस ऐप को लाया गया है उसकी विश्वसनीयता संदेहास्पद थी एवं उस पर पेमेंट करने में लोगों को अपने फोन के डाटा सिक्योरिटी को लेकर भी दिक्कत थी। सबसे बड़ी बात कि बिना किसी निवासियों के सहमति के महामारी के दौरान बिल्डर ने ज्यादा पैसे कमाने के लालच में इतना बखेरा किया।

 

जिस पर मेंटेनेंस मैनेजर सुनील चंद्रा ने मौखिक सहमति दी थी कि किसी की बिजली नहीं कटेगी। परंतु इस आश्वासन के बाद भी जब लोगों की इस गर्मी में लाइन कटती रही अंत में लोग परेशान होकर आज पुलिस को फोन किए और मेंटेनेंस से बात करने के लिए पहुंचे।

 

जिस पर निवासियों का आरोप है कि मेंटेनेंस के जीएम अरुण धीमान ने निवासियों के साथ हाथापाई एवं धक्का-मुक्की करने की कोशिश की एवं गाली गलौज भी की। तत्पश्चात बात काफी ज्यादा बढ़ गई। जिसके बाद बिसरख एस एच ओ श्रीमती अनीता चौहान खुद घटनास्थल पर पहुंची और निवासियों ने उन्हें मांग पत्र सौंपा एवं उन से निवेदन किया कि पुरानी बिजली की व्यवस्था को जल्द से जल्द बहाल किया जाए।

 

जिससे निवासी परेशान ना हो। वही एसएचओ ने निवासियों को आश्वासन दिया की किसी फ्लैट में बिजली नहीं कटेगी एवं सभी निवासियों से उन्होंने यह आग्रह किया कि भीड़ ना इकट्ठा होने दें जिस से जनपद में लागू धारा 144 का भी उल्लंघन ना हो।

Leave A Reply

Your email address will not be published.