कच्ची कॉलोनी में रहने वाले हजारों लोगों को मिलेगा उनका मालिकाना हक, अरविंद केजरीवाल ने केंद्र सरकार को दिया धन्यवाद

Abhishek Sharma (Photo-Video) Lokesh Goswami Tennews New Delhi :

0 137

देश की राजधानी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज प्रेस वार्ता करते हुए कच्ची कॉलोनी में बसने वाले लोगों के लिए खुशखबरी दी है। पिछले कई वर्षों से दिल्ली में कच्ची कॉलोनियों में बसे हुए हजारों लोग अपने घर का मालिकाना हक का इंतजार कर रहे थे।



अरविंद केजरीवाल ने आज घोषणा करते हुए कहा है कि जल्दी से जल्दी उन्हें रजिस्ट्री मिल जाएगी और उनके पास अब अपने घर का मालिकाना हक होगा। कच्ची कॉलोनी में बसने वाले हजारों लोगों का सपना अब पूरा होने वाला है । अब बस दरकार केंद्र सरकार द्वारा पूछे गए सवालों का जवाब देने की है। उसके बाद इस पर केंद्र की मुहर लग जाएगी।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अभी तक कच्ची कॉलोनी में रहने वाले लोगों के साथ धोखा होता हुआ आया है। लेकिन आम आदमी पार्टी सरकार ने सरकार बनने के बाद ठाना था कि कच्ची कॉलोनी में रहने वाले लोगों को उनके घर का मालिकाना हक उन्हें हम दिला कर रहेंगे और अब उस पर मुहर लगने वाली है।

उन्होंने कहा कि चुनावों के समय में कच्ची कॉलोनी में रहने वाली जनता को राजनीतिक पार्टियां याद करती थी और चुनाव समाप्त होने के बाद कोई उनका हाल तक नहीं जानने की कोशिश करता था। हमारी सरकार ने पहले दिन से ही ठान लिया था कि कच्ची कॉलोनी वाले लोगों को उनका मालिकाना हक हम दिला कर रहेंगे।

उन्होंने कहा कि हमने 2 नवंबर 2015 में कैबिनेट को प्रस्ताव भेजा था जो कि कैबिनेट ने पारित कर दिया था उसके बाद 12 नवंबर 2015 को केंद्र के पास प्रस्ताव भेजा गया, जिस पर उन्होंने अपनी सहमति जताई है । हालांकि केंद्र ने कुछ सवाल हमारी सरकार से किए है। जिनका जवाब देने के बाद रजिस्ट्री संभव हो सकेगी । हम केंद्र सरकार का धन्यवाद करना चाहेंगे जिन्होंने हजारों लोगों की खुशी उनके चेहरे पर लौट आई है।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने जो सवाल पूछे हैं उसके लिए आज अधिकारियों के साथ हमने मीटिंग बुलाई थी। जिसमें अधिकारियों को आदेश दिए गए हैं कि केंद्र सरकार के सवालों का संतोषजनक जवाब दिया जाए ताकि वे कच्ची कॉलोनियों की रजिस्ट्री पर मुहर लगा सके।

उन्होंने कहा कि हमने रजिस्ट्री विभाग को भी आदेश दिए हैं कि दिल्ली में बड़ी संख्या में रजिस्ट्री कराई जाएंगी। उसके लिए पूरी तैयारियां वे पहले से ही कर लें। रजिस्ट्री कराने के लिए अगर कैंप लगाने की जरूरत पड़ेगी तो वह भी लगाया जाएगा।

कच्ची कॉलोनी के लोगों ने और आम आदमी पार्टी सरकार ने जो सपना देखा था वह जल्द पूरा होने जा रहा है । कच्ची कॉलोनी के लोग बदतर जिंदगी जी रहे थे। यहां पर किसी प्रकार की कोई सुविधा नहीं थी बिजली, पानी, सीवर , नाली, सड़क की सुविधा नहीं थी।

दिल्ली सरकार कच्ची कॉलोनियों के लिए साढे तीन हजार करोड़ रुपए खर्च कर चुकी है या करेगी और बिजली पानी सीवर के लिए ढाई हजार करोड़ रुपए अलग से नाली सड़क के लिए खर्च किए जाएंगे। तो कुल मिलाकर कच्ची कॉलोनी में रहने वाले लोगों के लिए 6000 करोड रुपए उनकी सुविधा के लिए खर्च किए जाने हैं।

दिल्ली की कच्ची कॉलोनियों में बसने वाले लोगों को उनका मालिकाना हक मिलने में देरी हुई है । लेकिन हम उसके लिए किसी को दोषी नहीं ठहराएंगे। उन्होंने कहा कि अब कुछ ही समय में केंद्र सरकार से मंजूरी मिल जाएगी और अब कच्ची कॉलोनियों में रहने वाले लोगों के लिए खुशी का मौका है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.