शारदा अस्पताल में यूरोलाजी विभाग में लिथोटिंप्सी मशीन से गुर्दे में पथरी का इलाज शुरू

0 261

GREATER NOIDA LOKESH GOSWAMI  ग्रेटर नोएडा के शारदा अस्पताल की ऊँची उड़ान मे  एक पंख  और लग गया है। गुर्दे  की पथरी बीमारी से ग्रसित रोगियों के लिए एक राहत भरी खबर  है।शारदा सुपरस्पेशलिस्ट अस्पताल ग्रेटर नोएडा  के यूरोलाजी विभाग में  लिथोटिंप्सी मशीन से गुर्दे में पथरी का इलाज शुरू किया गया। अस्पताल के सर्जरी विभाग के एच.ओ .डी. डॉ  आशुतोष निरंजन ने बताया कि लिथोटिंप्सी मशीन से गुर्दे  में पथरी का इलाज करने वाले  शारदा अस्पताल ग्रेटर नोएडा का पहला और  एकमात्र संस्थान बन गया है। अभी तक यह सुविधा ग्रेटर नोएडा  के अस्पतालों में उपलब्ध नही थी। डॉ  सतेन्द्र एवं डॉ  विक्रम के नेतृत्व में वरिष्ठ चिकित्सकों की टीम बनायी गयी है।शारदा सुपरस्पेशलिस्ट अस्पताल के चिकित्साअधिक्षक डॉ  वी. के. गुप्ता ने बताया कि गुर्दे  में  पथरी से निजात पाने के लिए अभी तक लोगो को सर्जरी करानी पड़ती थी जिससे ठीक होने में  काफी समय लग जाता था। लेकिन लिथोटिंप्सी मशीन से पथरी का इलााज करना काफी सरल हो गया है उन्होने  यह बताया कि यह एक ऐसी प्र्रिर्कया है जो सर्जरी के बिना गुर्दे में छोटे आकार से लेकर बडे आकार तक की पथरी को हटाने के लिए प्रयोग किया जाता है। गुर्दे  किडनी मे पत्थर के टुकडे , मुत्रवाहिनी, मूत्राशय में  पत्थर और अग्नाशय या आमपित्त नली में उन पत्थर को तोड़ने  के लिए ध्वनिक या उच्च तीव्रता ध्वनि तरंगो का प्रयोग करते हैं। इस प्रक्रिया के बाद पत्थर के छोटे-छोटे टुकडे  मूत्र में या अन्य प्राकष्तिक मार्ग के माघ्यम से शरीर से बाहर निकल जाता है। उन्होने  यह भी बताया कि गरीब मरीजों के लिए यह सुविधा कम दरों पर प्रदान की जाऐगी।शारदा समुह के चेयरमैन  पी.के. गुप्ता ने अस्पताल के चिकित्सा अधिक्षक डॉ  वी. के. गुप्ता औरडीन पी. एल. करिहोलु को इस बडी़ उपलब्घि के लिए बधाई दी। उन्होने आषा व्यक्त किया कि हमारे शारदा अस्पताल के डॉक्टर  भविष्य में  भी इसी तरह से कम कीमत पर बेहतर इलाज करते रहेंगे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.