फर्जी डिग्री मामले में शारदा यूनिवर्सिटी के छात्रों ने डीएम कार्यालय का किया घेराव, डीएम को सौंपा ज्ञापन

Abhishek Sharma / Baidyanath Halder

0 757

Greater Noida (27/05/19) : ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क स्थित शारदा यूनिवर्सिटी में छात्र लगातार अपने हक़ की लड़ाई लड़ रहे हैं, जिसके बाद भी अब तक शारदा प्रबंधन के कान पर जूं तक नहीं रेंगी है। शारदा में लगातार हजारों विद्यार्थियों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। शारदा यूनिवर्सिटी में छात्र-छात्राओं से मुंहमांगी फीस वसूलते हैं, लेकिन अब तक 10 से ज्यादा कोर्स रजिस्टर्ड नहीं हैं। शारदा से पढ़कर गए छात्र-छात्राओं को फर्जी डिग्री का हवाला देकर नौकरी नहीं दी जा रही है। हजारों छात्र ऐसे हैं जो फीस के नाम पर लाखों रूपये शारदा को दे चुके हैं।

शारदा यूनिवर्सिटी के सैकड़ों छात्रों ने आज इसी संबंध में सूरजपुर स्थित डीएम कार्यालय पर नारेबाजी करते हुए शारदा प्रबंधन पर जल्द से जल्द कार्यवाही करने की मांग की। छात्र- छात्राओं का आरोप है की शारदा यूनिवर्सिटी प्रबंधन 2009 से छात्रों को फर्जी डिग्री देकर उनका भविष्य खतरे में डाल रहा है। सभी छात्रों को शारदा प्रबंधन डिग्री देने व रजिस्ट्रेशन कराने का झूठा आश्वासन देता आ रहा था।

करीब तीन महीने पहले भी शारदा यूनिवर्सिटी के छात्र-छात्राओं ने यहाँ पर मान्यता प्राप्त डिग्री के लिए धरना प्रदर्शन किया था, जिसके बाद तत्कालीन रजिस्ट्रार ने छात्रों को यह आश्वासन देकर शांत किया था कि तीन महीनो के अंदर सभी छात्रों की डिग्री मान्यता प्राप्त करा दी जाएगी, लेकिन अब जब तीन महीने पूरे हुए तो यूनिवर्सिटी प्रबंधन ने रजिस्ट्रार बदल दिया, जिसके बाद नए रजिस्ट्रार ने सोमवार यानि आज तक का समय माँगा था। लेकिन अब तक शारदा प्रबंधन ने कोई ठोस कदम नहीं उठाया।



शारदा यूनिवर्सिटी के छात्र वंश त्यागी ने बताया कि डीएमएलटी, डीओटीटी, बीपीटी, बीएमएलटी, ऑप्टोमेट्री, बीएनडी, बीसीटी, एमएससी, मास्टर ऑफ फिजियोथेरेपी कोर्सेज की कोई मान्यता नही है। और इस वजह से पास होकर निकलने वाले छात्रों को भी कही नौकरी नहीं मिल पा रही है। इन सबके बावजूद पढ़ाई के नाम पर शारदा प्रबंधन 2009 से छात्रों से मोटी फीस वसूल रहा था।

छात्र रोहित नागर का कहना है कि यूनिवर्सिटी की टैग लाइन है “वर्ल्ड इज हियर” पर वो ये नहीं बताते की यहां किस तरह का फर्जीवाड़ा चल रहा है। ” ये छात्रों के भविष्य की ओर नहीं देख रहे हैं, शारदा यूनिवर्सिटी के कारण 5 हजार छात्रों का भविष्य खतरे में है छात्रों का आरोप है कि जब भी शारदा प्रबंधन से पूछा जाता है की रजिस्ट्रेशन कब तक हो पाएंगे, तो उनकी ओर से हर बार एक ही जवाब आता है कि इसपर कार्रवाई चल रही है।

जल्द ही सभी छात्रों का रजिस्ट्रेशन कराया जाएगा। पिछले कई वर्षों से शारदा यूनिवर्सिटी यही बात बोलकर बच्चों को अँधेरे की ओर ले जा रही है। छात्रों का आरोप है कि जब वे अपने हक़ पाने के लिए हंगामा करते हैं तो उन्हें डिग्री रोकने की धमकी दी जाती है हालांकि, पिछली बार यूनिवर्सिटी के वाईस चांसलर ने लेटर लिखकर आश्वाशन दिया था कि 30 जून 2019 तक अब तक यहाँ पर पढ़े सभी छात्रों का रजिस्ट्रेशन करा दिए जाएंगे।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.