एसएसपी के ऑपरेशन ट्रैप से सहमत हैं पूर्व आईपीएस अधिकारी, बोले गुनहगारों को मिलनी चाहिए सजा।

Talib Khan / Baidyanath Halder

185

NOIDA, (2/2/2019): पिछले हफ्ते हुए घूसखोरी के मामले में नॉएडा पुलिस अभी तक सवालो के घेरे में खड़ी हुई है। अभी तक निलंबित एसएचओ की जगह नए एसएचओ की नियुक्ति नहीं हुई है।

उत्तर प्रदेश मे पुलिस पर लगातार भ्रष्टाचार के आरोप लगते रहते है लेकिन इस बार एक ऐसे गैंग का खुलासा हुआ है जो की पुलिस और मीडिया मिलकर चलाती थी , लेकिन इस बार पुलिस और मीडीया को ये नही पता की उनके लिए बाकाएदा एक आपरेशन ट्रैप चलाया गया है और ये पुरा गैंग एक साथ एसएसपी के ट्रैप मे फंस गया और रंगेहाथ इन्सपैक्टर और मीडिया कर्मीयो को गिरफ्तार कर लिया गया |

इस मामले पर तेन न्यूज़ ने पूर्व आईपीएस अधिकारी, आर.के. चतुर्वेदी से बात की। उन्होंने कहा की “ये घटना नॉएडा पुलिस के लिए बोहत ही शर्मिंदगी वाली बात है की उनके पुलिस कर्मी को रिश्वत लेते हुए पकड़ा गया। साथ ही साथ ये पत्रकारों के लिए भी शर्मिंदगी की बात है। लेकिन जिस तरह से एसएसपी ने इस मामले को हल किया है उसका भी जवाब नहीं है”।

वही दूसरी तरफ दीपक ज्योति घिल्डयाल, पूर्व आईपीएस अधिकारी ने कहा की “हमे इस घटना से पुलिस के दो चेहरे नज़र आये। एक तो बुराई वाला चेहरा और दूसरी तरफ अच्छाई वाला चेहरा। मगर जिस तरह से एसएसपी ने थाना प्रभारी को उसी के ठाणे में बंद करा है उसकी जितनी तारीफ़ की जाए काम है। ये एक उद्धरण बनकर सामने आया है”।

वही इस मामले में अभी तक निलंबित थाना प्रभारी की जगह किसी की नियुक्ति नहीं की गयी है। एसएसपी का कहना है की किसानो के धरने के चलते इस प्रक्रिया में देरी हो रही है मगर जल्द से जल्द नए थाना प्रभारी की नियुक्ति कर दी जाएगी।

Loading...

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.