युवक की सूझबूझ से एनडीएमसी में फर्जी नौकरी दिलवाने वालों का हुआ पर्दाफाश , दो आरोपी गिरफ्तार

ROHIT SHARMA / JITENDER PAL

60

नई दिल्ली :– नई दिल्ली के एनडीएमसी में नौकरी दिलाने का झांसा देकर युवक को ठगी का शिकार बनाने का प्रयास कर रहे दो ठगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है । खासबात यह है कियुवक की सूझबूझ के कारण खुद शिकार बन सलाखों के पीछे पहुंच गए।

दरअसल दोनों ठगों ने युवक को एक लाख रुपये देने के एवज में एनडीएमसी का एक फर्जी ऑफर लेटर तक थमा दिया था , पर युवक ने रुपये देने के लिए ठगों से और समय ले उस ऑफर लेटर को लेकर एनडीएमसी के ऑफिस में एक अधिकारी के पास पहुंच गया, जहां उसे पता चला कि वह लेटर फर्जी है।



इसके बाद युवक ने उस अधिकारी की सहायता से दोनों ठगों तो रुपये देने के नाम पर वहां बुला लिया, फिर दोनों ठगों के पहुंचते ही एनडीएमसी कर्मचारियों की मदद से उन्हें दबोच पुलिस के हवाले कर दिया। कनाट प्लेस थाना पुलिस ने ठगी का मामला दर्ज कर ओमप्रकाश मीणा और सुनील कुमार यादव को गिरफ्तार कर लिया।

आपको बता दे कि 29 वर्षीय संपत राम चौधरी अलवर के रहने वाले हैं और प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं। इसके लिए वह नियमित रूप से अलवर में स्थित एक लाइब्रेरी में पढ़ाई के लिए जाया करता था। वहीं पर उसकी मुलाकात एक शख्स से हुई थी, उसने अपना नाम संतोष मीणा बताया था।

बातों बातों में उसने बताया कि उसका दिल्ली के एनडीएमसी में काफी अच्छी पहचान है। वह उसे वहां नौकरी दिलवा देगा , इसमें करीब एक लाख रुपये खर्च आएंगे। काफी समय से बेरोजगारी झेल रहे संपत ने हां कर दी। इस पर उसने बताया कि इसके लिए दिल्ली के एनडीएमसी ऑफिस में उसका एक इंटरव्यू होगा, जो एक बस फॉर्मलिटी होगी।

वही इस मामले में पुलिस के अधिकारियों का कहना है कि दो ठगों को गिरफ्तार कर लिया गया , पूछताछ जारी है जिससे और अभी मामले का खुल सकते है ।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.