लोकसभा चुनाव को लेकर मुस्लिम समुदाय से की टेन न्यूज़ ने खास बातचीत , दी प्रतिक्रिया

ROHIT SHARMA/ JITENDER PAL- TEN NEWS

44

(11/05/2019) लोकसभा चुनाव का सफर दिल्ली तक पहुंच गया है , कल 7 राज्यों की 59 सीटों में से दिल्ली की सात सीटों पर भी वोटिंग होगी। आपको बता दे की 2014 के लोकसभा चुनाव और 2015 के विधानसभा चुनाव ने दिल्ली के राजनीतिक समीकरण को कांग्रेस के खिलाफ कर दिया और अरविन्द केजरीवाल की आम आदमी पार्टी का उदय हुआ , लेकिन 2019 के चुनाव में कांग्रेस राजधानी में अपनी खोई जमीन को फिर से पाने के लिए पूरी जोर लगा रही है। 2015 में एकतरफा जीत हासिल करते हुए दिल्ली में सरकार बनाने वाली आप धीरे-धीरे अपनी चमक खो रही है, जबकि बीजेपी को ऐंटी-पार्टी वोटों के आप और कांग्रेस में संभावित बंटवारे में फायदा दिख रहा है।



खासबात यह है की कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और अरविंद केजरीवाल के बीच आखिरी वक्त तक गठबंधन को लेकर बातचीत चली लेकिन आखिरकार कोशिश नाकाम हो गई और कांग्रेस ने अपने दिग्गजों को चुनाव मैदान में उतार दिया। कांग्रेस की तरफ से खुद पूर्व मुख्यमंत्री और दिल्ली कांग्रेस प्रमुख शीला दीक्षित, अजय माकन, महाबल मिश्रा और जेपी अग्रवाल मैदान में हैं। आम आदमी पार्टी ने भी राघव चड्ढा और आतिशी जैसे अपने लोकप्रिय चेहरों को चुनाव मैदा में उतारा जिन्हें राजधानी के सरकारी स्कूलों की सूरत ‘बदलने’ का श्रेय दिया जाता है। इनके अलावा दिलीप पांडे को भी आप पार्टी ने मैदान में उतारा है।

वही दूसरी तरफ 2014 में दिल्ली की सभी 7 सीटों पर जीत दर्ज करने वाली बीजेपी ने हर्ष वर्धन और मनोज तिवारी समेत अपने 5 मौजूदा सांसदों पर दांव खेला है। बीजेपी पार्टी को उम्मीद है कि मोदी की लोकप्रियता और बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद पैदा हुई राष्ट्रवाद की लहर उसके पक्ष में काम करेगी। हालांकि, सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर दिल्ली में हुई सीलिंग की वजह से पार्टी की चिंता बढ़ा रही है।

वही आज लोकसभा चुनाव को लेकर टेन न्यूज़ की टीम ने मुस्लिम समुदाय के लोगों से खास बातचीत की , बता दे की मुस्लिम समुदाय में कुछ ऐसे लोग थे जो व्यापारी है , जिन्होंने अपनी प्रतिक्रिया दी | उन्होने कहा की आम आदमी पार्टी ने सरकारी स्कूलों और मोहल्ला क्लीनिक में बहुत सुधार किया है , बिजली-पानी का बिल काफी कम हो गया है । हमारा बिजली-पानी का बिल काफी कम हो गया है और उन्होंने हमारे स्कूलों को बेहतर बनाया है। इससे कोई इनकार नहीं कर सकता कि आप पार्टी ने काम किया है।

वही दूसरी तरफ कुछ लोगों ने कहा की मौजूदा सरकार ने प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए कुछ नहीं किया। हर जाड़ों में स्मॉग एक मुद्दा बन जाता है और जैसे ही जाड़ा खत्म होता है, लोग इसे भूल जाते हैं।’

मुस्लिम समुदाय के व्यापारियों का कहना है की नोटबंदी और जीएसटी के लागू होने पर व्यापारी समुदाय पर असर पड़ा था। लेकिन अब यह इतना बड़ा मुद्दा नहीं है कि बीजेपी को इससे नुकसान हो। हालांकि, सीलिंग एक बड़ा मुद्दा जरूर है। कोर्ट के आदेश पर लाजपत नगर, करोल बाग और साउथ एक्सटेंशन जैसे पॉप्युलर ट्रेडिंग हबों में कई दुकानों और व्यापारिक प्रतिष्ठानों की सीलिंग हुई। इसे लेकर बीजेपी को व्यापारी वर्ग की नाराजगी का सामना करना पड़ सकता है। साथ ही उनका कहना है की ‘छोटे और मध्यम श्रेणी के कारोबारी सबसे ज्यादा प्रभावित हुए क्योंकि दुकान ही उनकी आजीविका का साधन था , उनमें बहुत असंतोष है।’

साथ ही मुस्लिम समुदाय के लोगों ने कहा की इस सरकार ने रोजगार पर ध्यान नहीं दिया है , आज भी दिल्ली के युवा बेरोजगार घूम रहे है | इस सरकार से बहुत अपेक्षा थी की मुस्लिम समुदाय के लोगों का ध्यान रखेगी , लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं हुआ |

Loading...

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.