इंफ्रास्ट्रक्चर बॉन्ड लाने की तैयारी में यमुना प्राधिकरण, नही होगी बैंक से कर्ज लेने की जरूरत

ABHISHEK SHARMA

0 77

यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में विकास अपने चरम पर है। यहां नई-नई परियोजनाओं पर काम चल रहा है। वहीं अब यमुना प्राधिकरण इंफ्रास्ट्रक्चर बॉन्ड लाने की तैयारी कर रहा है। प्राधिकरण की रेटिंग तय करने के लिए एजेंसी का चयन कर लिया गया है। 2 महीनों में रेटिंग मिल जाएगी। बॉन्ड से प्राधिकरण कोष का प्रबंध कर सकेगा और उसे बैंक से कर्ज लेने की जरूरत नहीं होगी।

प्राधिकरण के सीईओ डॉक्टर अरुणवीर सिंह ने बताया कि यमुना प्राधिकरण कई बड़ी परियोजनाओं पर काम कर रहा है। इसमें नोएडा एयरपोर्ट, परी चौक से जेवर तक मेट्रो, फिल्म सिटी, टॉय सिटी, अपैरल पार्क, एमएसएमई क्लस्टर, हैंडीक्राफ्ट पार्क आदि शामिल हैं। उन्होंने कहा कि इसके लिए बड़े पैमाने पर बुनियादी ढांचा तैयार करने की जरूरत है।

उन्होंने कहा, इन परियोजनाओं पर काफी निवेश करने की जरूरत होगी। प्राधिकरण पर पहले ही 2000 करोड रुपए का कर्जा है। बैंकों से और ऋण लेने के बजाय बॉन्ड के जरिए कोष का इंतजाम करना बेहतर विकल्प है।

इंफ्रास्ट्रक्चर बॉन्ड से जुटाई गई राशि से यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में बुनियादी ढांचे का विकास किया जाएगा। बॉन्ड लाने से पहले रेटिंग की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। रेटिंग तय करने वाली एजेंसी के रूप में ब्रिक वर्क इंडिया प्राइवेट लिमिटेड का चयन किया गया है।

उन्होंने बताया कि प्राधिकरण अपने क्षेत्र में 2024-25 तक बुनियादी ढांचे के विकास पर करीब 18000 करोड रुपए खर्च करेगा। इसमें करीब 6000 करोड रुपए ग्रेटर नोएडा से नोएडा एयरपोर्ट तक मेट्रो पर खर्च होंगे। ढाई हजार करोड रूपए फिल्म सिटी पर खर्च होंगे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.