नोएडा की स्कूल टॉपर फाल्गुनी ने टेन न्यूज़ के साथ साझा किए सफलता के मंत्र

0 161

नोएडा :– सीबीएसई बोर्ड में पढ़ने वाले कक्षा 12वीं के छात्रों का इंतजार खत्म हो गया है। बोर्ड ने परीक्षा के परिणाम जारी कर दिए हैं। आपको बता दें, परिणाम की संभावित तारीख 13 से 17 मई बताई जा रही थी, लेकिन अब परिणाम तय समय से पहले जारी कर दिए गए हैं। इस बार 83.4 प्रतिशत छात्र पास हुए हैं। जबकि पिछले साल 83 प्रतिशत छात्र पास हुए थे।



परीक्षा में पहला स्थान उत्तर प्रदेश की हंसिका शुक्ला और करिश्मा अरोरा ने हासिल किया है। उन्हें 500 में से 499 अंक मिले हैं। वहीं उत्तराखंड की गौरांगी चावला ने दूसरा स्थान हासिल किया है। उन्होंने 500 में से 498 अंक हासिल किए हैं। इस साल लड़कियों का पास प्रतिशत 88.7% जबकि लड़कों का पास प्रतिशत 79.40% रहा। इस बार बोर्ड में स्टूडेंट्स का पास प्रतिशत में बढ़ोतरी देखने को मिली।

मधुबन अपार्टमेंट, सेक्टर-82, नोएडा निवासी एमिटी इंटरनेशनल स्कूल की छात्रा फाल्गुनी चौहान ने 500 में से 488 अंक (97.6%) हासिल किये हैं। फाल्गुनी के पिता प्राइवेट सर्विस में कार्यरत हैं और माँ सरकारी अध्यापिका हैं।

फाल्गुनी ने अपने स्कूल में टॉप करने पर टेन न्यूज़ से बात करते हुए पढ़ाई में अपनी सफलता के राज हमारे साथ साझा किए। फाल्गुनी ने अपनी सफलता का श्रेय अपने पेरेंट्स को दिया और खासकर अपनी मम्मी को जो कि खुद एक अध्यापिका हैं।

उन्होंने बताया कि 12वीं कक्षा में उनके पास ह्यूमेनिटीज़ थी और उन्होंने बड़े आसान तरीके से एग्जाम की तैयारियां की हैं। उन्होंने दूसरे बच्चों की तरह 14-15 घंटे पढ़ाई नहीं की। बल्कि दिन में और रात में दो-दो घंटे पढ़ती थी। पढ़ाई के लिए शांत माहौल मिलना सबसे अधिक आवश्यक होता है , जो कि उनके घर में उन्हें मिलता था जिसके कारण उन्होंने अच्छे से परीक्षाएं दी और स्कूल में टॉप किया है।

उन्होंने बताया कि परीक्षाओं के दौरान उनके भाई ने सबसे अधिक उनकी मदद की, उन्हें जो कुछ भी समझ में नहीं आता था , उनका भाई उन्हें वह सब पढ़ाता था। उन्होंने कहा कि उनकी मम्मी टीचर हैं तो वो मुझे अच्छे से समझती थी, घरवालों ने कभी पढ़ाई के लिए दबाव नहीं बनाया।

वहीं फाल्गुनी के पिता महेश चौहान का कहना है कि उन्हें अपनी बेटी पर गर्व है, आज के दौर में लड़कियां किसी भी क्षेत्र में लड़कों से पीछे नहीं है। बेटी के स्कूल टॉप करने पर उन्हें बेहद ख़ुशी हो रही है। कल से ही लोगों के बधाई के लिए कॉल आ रहे हैं। बेटी की इस उपलब्धि पर पूरे परिवार में ख़ुशी की लहर दौड़ गई है। फाल्गुनी के भविष्य के बारे में उन्होंने कहा कि जो उनकी बेटी चाहेगी वही करेगी, हालांकि फाल्गुनी का कहना है कि भविष्य में वो प्रशासनिक सेवाओं में जाना चाहती और खासकर उनका आईएएस बनने का सपना है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.