कोरोना को लेकर सीएम योगी ने लिए ये अहम फैसले, इलाज का खर्च भी उठाएगी सरकार

ABHISHEK SHARMA

0 188

Noida : चीन से विश्व भर में फैला कोरोना वायरस का कहर अब बढ़ता जा रहा है। इससे बचाव को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार काफी सतर्क है। योगी आदित्यनाथ सरकार ने कैबिनेट की बैठक के बाद प्रदेश में सभी स्कूल व कॉलेज को दो अप्रैल तक बंद करने की घोषणा की है। कोरोना के बढ़त कहर को देखते हुए उत्तर प्रदेश के स्कूल-कॉलेजों और मल्टीप्लेक्स दो अप्रैल तक बंद कर दिए गए हैं।

स्कूल व कॉलेज को दो अप्रैल तक बंद करने के साथ ही सरकार ने अगले आदेश तक सभी परीक्षाओं को भी स्थगित कर दिया है। पहले सरकार ने सभी स्कूल-कॉलेज को 22 मार्च तक बंद करने का आदेश जारी किया था। यूपी रेरा ने भी कोरोना वायरस के मद्देनजर 31 मार्च तक सुनवाई स्थगित की।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में हुई कैबिनेट की बैठक में कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए सरकार ने बड़े फैसले लिए हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेशवासियों से अपील की है कि वे भीड़-भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचें। सरकार ने दिहाड़ी मजदूरों के लिए बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि उनके भरण-पोषण के लिए निश्चित धनराशि मुहैया करवाई जाएगी।

योगी आदित्यनाथ सरकार ने सभी शिक्षण संस्थाओं को दो अप्रैल तक बंद करने के आदेश देते हुए प्रतियोगी परीक्षाओं समेत सभी तरह की परीक्षाओं को दो अप्रैल तक स्थगित कर दिया है। सरकार ने सभी पर्यटक स्थल और म्यूजियम 31 मार्च तक बंद रखने का आदेश दिया है। इस दौरान वहां साफ-सफाई होती रहेगी, लेकिन पर्यटकों का प्रवेश वर्जित रहेगा। सभी सिनेमाघर, मल्टीप्लेक्स को भी बंद करने का आदेश दिया गया है। दो अप्रैल तक सभी सिनेमा हॉल, मॉल तथा जिम को बंद रखा जाएगा।

प्रदेश के सभी पर्यटक स्थल 31 मार्च तक बंद रहेंगे। तहसील दिवस, समाधान दिवस और जनता दर्शन भी दो अप्रैल तक बंद रहेगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना वायरस से पीड़ित मरीजों का मुफ्त में जांच और इलाज कराया जाएगा, एवं जो भी व्यय होगा राज्य सरकार वहन करेगी। साथ ही उनके अवकाश के दौरान वेतन में कोई कटौती नहीं की जाएगी।

उन्होंने कोरोना वायरस पर केंद्र सरकार की एडवाइजरी का 100 प्रतिशत पालन करने के निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आदेश दिया है कि कोरोना वायरस पीड़ित का मुफ्त में जांच और इलाज सरकार करवाएगी। प्रदेश में निजी और सरकारी कर्मचारियों को बायोमेट्रिक हाजिरी से छूट दी गई है। इसके साथ ही यथासंभव कर्मचारी अपने घर से ही काम करेंगे। इस दौरान उनके वेतन का भुगतान होता रहेगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.