दिल्ली : कोरोना के चलते आसमान पर मास्क और सैनेटाइजर के दाम , लोगों ने दी प्रतिक्रिया 

ROHIT SHARMA / AMAN KUMAR

0 175

नई दिल्ली :– कोरोना वाइरस को लेकर जारी आतंक के बीच डॉक्टर से लेकर विशेषज्ञ तक सभी लोगों को सलाह दे रहे हैं कि चेहरे पर मास्क और हैंड सैनिटाइजर का उपयोग करें। परंतु, लोग जब दवा की दुकानों पर जा रहे हैं तो मास्क से लेकर सैनिटाइजर नहीं मिल रहे हैं और लोगों को बैरंग लौटना पड़ रहा है ।

अगर कही मिल भी रहा है तो महंगे दाम पर मास्क और सेनिटाइजर मिल रहा है | वही लोगों ने बताया की दुकान में कुछ दिन पहले तक खूब सैनिटाइजर मिल रहा था। परंतु, अब नदारद है।

दिल्ली के जीबी पंत अस्पताल के निकट विभिन्न दवा दुकानों में जाने पर भी कहीं सैनिटाइजर नहीं मिला। दुकानदारों का कहना है कि दो दिन पहले तक सैनिटाइजर उपलब्ध था , लेकिन अब नहीं मिल रहा है। कुछ समय पहले, मास्क समस्या बन गया था। एन -95 मास्क की तो बात ही नहीं करें सामान्य मास्क भी नहीं मिल रहे हैं।

वही लोगों का कहना है की कुछ दुकानों में मास्क हैं , लेकिन उसकी कीमत दोगुनी से अधिक वसूली जा रही है। आपको बता दे कि इनफोर्समेंट ब्रांच के अधिकारियों ने महानगर के मेडिकल कॉलेज के निकट स्थित विभिन्न दुकानों में छापेमारी की और मास्क की कीमत जानना चाहा तो पता चला कि सामान्य मास्क की कीमत कई गुना अधिक वसूली जा रही है। भले ही वह मास्क कोरोना वायरस से बचाव में उपयुक्त हो या नहीं है, लेकिन कीमत अधिक है।

ईबी अधिकारियों ने ग्राहक बनकर दुकान मालिक से मास्क की कीमत पूछा तो कीमत सुनकर हैरान हो गए। क्योंकि कुछ ग्राहक वहां ऐसे थे जो 20 या 40 रुपये के मास्क का दो से तीन गुना अधिक कीमत चुकाने को तैयार दिखे। ईबी ने दुकानदारों को कहा है कि मास्क की कीमत जितनी है उतना ही लें अधिक रुपये वसूलने पर कार्रवाई होगी। वहीं सैनिटाइजर का तो कुछ पता ही नहीं चला।

दुकानदारों का कहना है कि सप्लाई की तुलना में आपूर्ति नहीं हो रही है जिसके चलते काफी दिक्कत हो रही है। वही केंद्र सरकार ने मास्क और हैंड सैनिटाइजर को आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 के तहत अधिसूचित कर दिया है। एमआरपी से ज्यादा कीमत लेने पर अपराध घोषित किया गया है। बावजूद इसके मास्क व सैनिटाइजर की खूब कालाबाजारी हो रही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.