दिल्ली में इस बार भी नहीं जलेंगे पटाखे , सीएम केजरीवाल ने दिए सख्त निर्देश , लोगों से की अपील 

ROHIT SHARMA

0 57

नई दिल्ली :– दिल्ली सरकार पर्यावरण को सही रखने के लिए लगातार अभियान चला रही है , जो प्रदूषण फैला रहा है उसके खिलाफ काफी ज्यादा कड़ी कार्यवाही कर रही है , लाखों समेत करोड़ो रूपये का जुर्माना लगा रही है |

 

आज इस कड़ी में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने बड़ा ऐलान किया है | उन्होंने प्रेस वार्ता करते हुए कहा की दिल्ली में इस बार भी दीपावली पर पटाखे जलाने की अनुमति नहीं होगी।

 

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में कोरोना और वायु प्रदूषण की समस्या का हवाला देते हुए कहा कि पूरी दिल्ली की दो करोड़ जनता एकसाथ दीपावली मनाएगी। उन्होंने कहा, ‘जिस तरह हमने पिछले वर्ष दीपावली पर पटाखे नहीं जलाने का संकल्प लिया था और दिल्ली के दिल कनॉट प्लेस में जुटकर दीपावली की खुशियां बांटी थीं। उसी तरह इस वर्ष भी हम साथ मिलकर दिवाली मनाएंगे लेकिन पटाखे नहीं जलाएंगे।

 

 

सीएम ने दिल्ली में वायु प्रदूषण पर चिंता प्रकट करते हुए कहा, ‘हम देख रहे हैं चारों तरफ आसमान भरा हुआ है धुएं से और इसकी वजह से कोरोना की स्थिति और खराब हो रही है। पिछली बार भी हमलोगों ने दिवाली के टाइम पे पटाखे ना जलाने की सौगंध खाई थी।

दिवाली पर हम सब लोगों ने कनॉट प्लेस के अंदर सारी दिल्ली के लोगों ने मिलकर दिवाली मनाई थी। हमलोगों ने वहां लाइट शो रखा था। आप सबलोग कनॉट प्लेस आए थे।

केजरीवाल ने कहा कि इस बार भी पिछले साल की तरह दिल्लीवासी एकसाथ दिवाली मनाएंगे। उन्होंने कहा, ‘इस बार भी हम सबलोग मिलकर दिवाली मनाएंगे। पटाखे नहीं जलाएंगे। किसी भी हालत में पटाखे नहीं जलाना। अगर पटाखे जलाएंगे तो अपने ही बच्चों की जिंदगियों के साथ खेलेंगे, अपने ही परिवार की जिंदगी के साथ खेलेंगे। पटाखे नहीं जलाएंगे, दिवाली एक साथ मनाएंगे।

मुख्यमंत्री ने बताया कि इस बार दीपावली के दिन लक्ष्मीपूजन का शुभ मुहुर्त शाम 7.39 बजे है। उन्होंने कहा कि 14 तारीख को शाम 7.39 बजे हम फिर से कनॉट प्लेस में जुटेंगे। वहां एक जगह लक्ष्मी पूजन करेंगे। कुछ टीवी चैनल इसका सीधा प्रसारण करेंगे। केजरीवाल ने कहा, ‘पंडितजी मंत्रोच्चार करेंगे और आप लोग अपने-अपने घरों में लक्ष्मी पूजन करेंगे। जब दो करोड़ दिल्लीवासी एक साथ लक्ष्मीपूजन करेंगे तो अलग ही नजारा होगा।’

केजरीवाल ने ऑनलाइन संबोधन में कहा, ‘इस वक्त दिल्ली में कोरोना और पॉल्युशन, दोनों का बड़ा कहर छाया हुआ है। दिल्ली के लोग, दिल्ली सरकार मिलकर पूरा प्रयास कर रहे हैं स्थिति से निपटने के लिए। पॉल्युशन की वजह से स्थिति ज्यादा खराब हो रही है।’ उन्होंने कहा कि पड़ोसी राज्यों की सरकारों ने किसानों के लिए कुछ नहीं किया जिस कारण पराली जलाने की समस्या वर्षों से कायम है।

 

उन्होंने कहा, ‘हर साल इस वक्त पॉल्युशन इन दिनों में होता है क्योंकि पराली जलने का धुआं दिल्ली की तरफ आता है। दुख की बात ये है कि पिछले कई सालों से ये हो रहा है, लेकिन कोई भी ठोस कदम उन सरकारों ने अपने किसानों के लिए नहीं उठाया।’

Leave A Reply

Your email address will not be published.