महिलाओं के साथ यौन उत्पीड़न को रोकने के लिए डीएम और इंटेर्रा कंपनी मिलकर करेंगे काम

Abhishek Sharma / Photo & Video By Rohit Sharma

0 237

Noida (20/06/19) : नोएडा के सेक्टर-27 स्थित फार्च्यून होटल में सेक्सुअल हर्रासमेंट को लेकर एक प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है। हमारे समाज में आज के समय में लड़कियों के साथ काफी हद तक छेड़खानी की जाती है, लेकिन किसी भी डर के चलते वे उसके खिलाफ आवाज नहीं उठा पाती है। लड़कियों को इसके खिलाफ तुरंत आवाज उठानी चाहिए, इसके लिए नोएडा में कार्यशाला का आयोजना कराया जा रहा है। इसके मुख्य अतिथि गौतमबुद्धनगर के डीएम बीएन सिंह मौजूद रहे। वहीं कंपनी की  ओर से एमडी अशोक लाहा, जॉइंट एमडी स्वाति डे मौजूद रही।

सेक्सुअल हर्रासमेंट को लेकर कार्यशाला का आयोजन नोएडा की इंटेरा इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी व जिला प्रशासन के द्वारा कराया गया , जहां पर लड़कियों को बताया गया कि किस प्रकार के कृत्य सेक्सुअल हर्रासमेंट के अंतर्गत आते है।
कार्यक्रम की मुख्य वक्ता इंटेर्रा कंपनी की एचआर की वाईस प्रेजिडेंट इंदु बासु रही, जिन्होंने मौके पर उपस्थित सभी लोगों को किस्सों के जरिए बताया कि अगर कोई आपका पीछा करे, गलत तरीके से छूना, कमेंट करना, सार्वजनिक स्थान पर अश्लील इशारे करने से लेकर कई ऐसी हरकतें होती हैं, जो सेक्सुअल हर्रासमेंट के अंतर्गत आते हैं। उन्होंने कहा कि लड़कियों को इस तरह की हरकतें किसी भी कीमत पर सहन नहीं करनी चाहिए, बल्कि उन्हें इसके खिलाफ जल्द से जल्द आवाज उठानी चाहिए।



उन्होंने बताया कि किसी की सेक्स लाइफ के बारे में पूछना, अपने ओहदे का गलत तरीके से इस्तेमाल करना, इनोसेंट फ्लिर्टिंग, एक औरत के मान को ठेंस पहुंचाना, शारीरिक तौर पर छूना अपराध के अंतर्गत आते हैं। किसी भी महिला को किसी भी कीमत पर इन बातों को सहन नहीं करना चाहिए और इन बातों की शिकायत अपने घर पर या पुलिस को दें।

उन्होंने बताया कि हमारे समाज में सबसे बड़ी कमजोरी होती है कि हम सेक्स जैसी चीजों के बारे में घर में बात नहीं करते हैं। ये अभिभावकों की ज़िम्मेदारी होती है कि वे अपने बच्चों को शुरुआत से ही सेक्सुअल हर्रासमेंट जैसी चीजों के बारे में उन्हें जानकारी दें, जिससे कि बड़े होकर गुड टच, बैड टच के बारे में पता चल सके और वे इसके खिलाड़ बेझिझक आवाज बुलंद कर सकें।

वही इस कार्यशाला में गौतमबुद्ध नगर के जिला अधिकारी बीएन सिंह ने सभी गणमान्य लोगो को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज के समय में ऐसी कार्यशाला होनी चाहिए , जिससे महिला कर्मचारी जागरूक हो सके । इंटेर्रा संस्था ने एक अच्छी पहल शुरू की है , साथ ही बहुत सी ऐसी संस्था है जिनको आगे आना चाहिए ।

साथ ही उनका कहना है कि महिला उत्पीड़न के मामले में देश के अंदर 2013 में कानून बना  लेकिन उस कानून के बारे में जागरूक नही है। महिला कर्मचारियों के साथ दुर्व्यवहार होता रहता है , लेकिन पीड़ित महिला आवाज नही उठाती है , जोकि बिल्कुल गलत है । महिलाओं को जागरूक होना चाहिए , साथ ही सभी कानून के बारे में जानकारी होनी चाहिए । जिससे सर उठा कर अपना जीवन व्यतीत कर सके ।


डीएम ने कहा कि इंटेर्रा कंपनी ने एक अच्छी पहल की है, कंपनी के एमडी अशोक लाहा ने प्रस्ताव दिया था कि महिलाओं की सुरक्षा को लेकर और उनके खिलाफ होने वाले सेक्सुअल हरासमेंट के खिलाफ आवाज उठाई जाए और गौतम बुध नगर के प्रशासन ने इसका पूरा सपोर्ट किया और मिलकर एक एमओयू साइन किया है। जिसके तहत महिलाओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए इस साल 15 अगस्त तक एक ऐप और वेबसाइट लांच की जाएगी। निश्चित ही यह महिलाओं के लिए बहुत अच्छा कदम है।
उन्होंने कहा कि इस तरह के प्रशिक्षण कार्यशाला हर महीने आयोजित किए जाएंगे जिससे कि लोगों में और जागरूकता फैले और इसके प्रति सचेत रहें। डीएम ने कहा कि यह पहली कार्यशाला है और इसमें करीब 100 लोग मौजूद हैं जो कि एक अच्छी बात है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.