फोनरवा के उम्मीदवार योगेंद्र शर्मा पैनल से टेन न्यूज़ ने की विशेष बातचीत , बताई प्राथमिकताएं

Rohit Sharma (Photo-Video) Lokesh Goswami Tennews New Delhi :

0 102

फेडरेशन ऑफ नोएडा रेजिडेंट वेलफेयर असोसिएशन (फोनरवा) चुनाव में पहली बार तीन पैनल आमने सामने हैं। इसमें जहां सुरेश तिवारी पैनल नोएडा के विकास में अपने पिछले कार्यकाल में किए गए कार्यों के बूते जीत का दंभ भर रहा है, वहीं योगेंद्र शर्मा पैनल बदलाव के लिए चुनाव मैदान में है। इसी बीच सुखदेव शर्मा पैनल के चुनाव मैदान में आ जाने से चुनाव दिलचस्प हो गया है।



अभी तक फोनरवा के चुनाव में दो पैनल के बीच ही चुनाव होता रहा है। यह पहली बार है कि सुखदेव शर्मा ने तीसरा पैनल बनाकर पांच पदों पर प्रत्याशी घोषित कर दिए। इस पैनल के आ जाने के बाद बाकी के दोनों पैनलों के सामने अपने वोटरों को बचाने की चुनौती है। इस बार अध्यक्ष, महासचिव, सह कोषाध्यक्ष, वरिष्ठ उपाध्यक्ष के दो पदों पर त्रिकोणीय मुकाबले होंगे। बाकी पदों पर दोनों पैनल आमने-सामने होंगे।

योगेंद्र शर्मा पैनल ने निष्पक्ष चुनाव कराने पर आशंका जताई है। उन्होंने बताया कि मुख्य चुनाव अधिकारी सतीश खन्ना मंच साझा कर रहे हैं। ऐसे में चुनाव अधिकारी को हटाया जाना चाहिए।

योगेंद्र शर्मा पैनल इस बार फोनरवा टीम को बदलने की मुहिम के साथ लोगों के बीच में है। वह शहर के विकास, स्वास्थ्य, पर्यावरण, जल संचयन, सुरक्षा, आरडब्ल्यूए को प्रधान जैसा दर्जा दिलाने, नोएडा की बोर्ड बैठक में फोनरवा के कम से कम 2 सदस्यों को शामिल करने, सभी सेक्टर के लिए सामुदायिक केंद्र व आरडब्ल्यूए के ऑफिस की स्थापना की बात कर रहे हैं।

वही आज टेन न्यूज़ की टीम ने योगेंद्र शर्मा समेत उनके पैनल के सदस्यों से खास बातचीत की। फोनरवा के अध्यक्ष पद पर लड़ रहे योगेंद्र शर्मा ने कहा कि फोनरवा टीम को बदलने की जरूरत है , जिससे नोएडा शहर का विकास हो सके । उन्होंने कहा कि फोनरवा चुनाव में सिर्फ दो पैनल के बीच मुकाबला है , जिसमे योगेंद्र शर्मा का पैनल जीतेगा ।

एनपी सिंह के कार्यकाल की बात करे तो उससे कोई भी पदाधिकारी सन्तुष्ट नही है , उनके कार्यालय में आरडब्ल्यूए के साथ कोई भी मेलमिलाप नही था , जिसके कारण सेक्टरों में अंदर विकास नही हो पा रहा था । साथ ही बहुत से मुद्दे है , जिसकी आज तक पूरा नही किया गया । एनपी सिंह द्वारा फोनरवा चुनाव में खड़े किए गए सुरेश तिवारी पैनल ने घोषणा पत्र जारी किया , जिसमे तमाम वो वादे है , जो पिछले चुनावों में किए गए थे । योगेंद्र शर्मा ने कहा कि जो पिछले चुनाव में जो वादे किए थे , उसको आज तक पूरा नही किया गया । न ही इस मामले में सुरेश तिवारी के पास कोई जवाब है ।

योगेंद्र शर्मा ने कहा कि जो हमने घोषणा पत्र जारी किया है , उसको हम करके दिखाएंगे । 12 साल से रुके हुए कार्यो को 2 साल के अंदर पूरा किया जाएगा ।

वही दूसरी तरफ योगेंद्र शर्मा पैनल के सदस्यों का कहना है कि फोनरवा में इस बार बदलाव की जरूरत है , जो इस बार चुनाव में होगा । जितने भी आरडब्ल्यूए के पदाधिकारी है , उनकी भी यही मंशा है कि इस बार योगेंद्र शर्मा का पैनल जीते , जिससे सेक्टरों में विकास हो सके । साथ ही उन्होंने कहा कि हमारा पैनल जीतता है तो हर महीने सेक्टरों का दौरा किया जाएगा , जो भी समस्याएं होंगी उसको खुद अधिकारियों के सामने बैठकर निस्तारण करवाया जाएगा ।

आपको बता दे कि फोनरवा के अध्यक्ष पद पर योगेंद्र शर्मा, महासचिव पद पर जेपी उप्पल, वरिष्ठ उपाध्यक्ष पद पर कर्नल (रिटा.) एसके वैद्य, ओपी यादव, राजीव गर्ग, गजेंद्र बंसल, उपाध्यक्ष पद के लिए अशोक त्यागी, शिवकुमार तिवारी, मूलचंद अवाना, सतपाल यादव, कोषाध्यक्ष पद पर अशोक मिश्रा, सह कोषाध्यक्ष पद पर एडवोकेट अनिल चौहान, विधि सचिव के लिए ताराचंद गौड़, सचिव पद पर सुरेश चौहान, सुनील बाधवा, योगेश शर्मा, पवन यादव, सह सचिव पद के लिए प्रदीप बोहरा, पुलकित गुप्ता, सुशील यादव और आसिम कुमार चुनाव मैदान में हैं।

फिलहाल 21 जुलाई को फोनरवा के चुनाव होने वाले है , जिसको लेकर हर पैनल नोएडा के सभी सेक्टरों का दौरा कर रहे है । अब देखने वाली बात होगी , कौनसा पैनल इस बार फोनरवा का चुनाव जीतता है । क्या इस बार फोनरवा में बदलाव देखने को मिलेगा ?

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.