फर्जी आईएएस बन करवा रहा था संबंधियों के काम, बादलपुर पुलिस ने किया गिरफ्तार

Abhishek Sharma

0 309
Greater Noida (29/12/18) : फर्जी आईएएस बनकर अपने सगे संबंधियों का काम कराने वाले मणिशंकर त्यागी नामक व्यक्ति को थाना बादलपुर पुलिस ने आज सुबह गिरफ्तार कर लिया है। अभियुक्त ने एसपी देहात विनीत जायसवाल को भी फ़ोन किया और कहा कि वह डीएम विशाल बात कर रहा है और लोनी के रिस्तल का एक मामला सुलझाने के लिए एसपी देहात को आदेश डाले। जब एसपी विनीत जायसवाल ने फर्जी आईएएस से उसके कार्डर के बारे में पूछा तो उसने कार्डर की जगह बैच 2005 बताया इसपर एसपी को शक हुआ और उन्होंने इसकी खोजबीन शुरू कर दी। 

 
गिरफ्तार किए गए अभियुक्त ने बाद में अपने आप को राजस्थान का डीएम बताया और बहुत ही मंझे हुए लहजे में उसने एसपी से बात की। आरोपी की आवाज से एसपी को जरा सी भी भनक नहीं लग सकी कि ये कोई फर्जी आईएएस है। हालांकि कार्डर पूछने पर अभियुक्त फंस गया और जांच पड़ताल करने पर मणिशंकर त्यागी को बादलपुर पुलिस ने आज सुबह गाजियाबाद से गिरफ्तार किया है। 
 
एसपी विनीत जायसवाल ने बताया कि पकड़ा गया अभियुक्त कई उच्च अधिकारियों को कॉल कर चुका है और अपने सगे संबंधियों के काम करवा चुका है। अभियुक्त के पास से एक मोबाइल फ़ोन भी बरामद हुआ जिसे खंगालने पर उसमे से 3 कॉल रिकॉर्डिंग भी मिली हैं। एक रिकॉर्डिंग में अभियुक्त ने सेल्स टैक्स के अधिकारी को उसका सीनियर बनकर बात की और फिर किसी और को लाइन पर लेकर कहा कि इसका काम करवा दीजिये। 
 
उन्होंने बताया कि अभियुक्त ने बताया है कि वह जेपी में सुपरवाइजर के पद पर तैनात है। पुलिस अभियुक्त का पूरा रिकॉर्ड खंगाल रही है जिससे कि पता चल सके कि अब तक इसने कितने लोगों को फर्जी आईएएस बनकर कॉल की है। एसपी देहात का कहना है कि अभियुक्त ने कहीं त्रिपुरा का डीएम बताया तो कहीं पर राजस्थान का। इस मामले की गहनता से जांच की जा रही है कि फ़ोन करने पर अभियुक्त को क्या लाभ मिला है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.