जिला जेल में बंद हिस्ट्रीशीटर ने व्हाट्सप्प कॉल कर मांगी 35 लाख रूपये की रंगदारी

ABHISHEK SHARMA

0 178

Greater Noida (23/09/19) : लुकसर जिला कारागार में बंद खनन माफिया भूपेंद्र मोमनाथल पर व्हाट्सएप कॉल कर धमकी देने और उसके साथी व परिजनों पर 35 लाख रुपये रंगदारी मांगने मामला सामने आया है। नोएडा के सेक्टर-22 निवासी विकास चौधरी ने इसकी शिकायत एसएसपी से की है। मामले में एसएसपी ने रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई के आदेश दिए हैं।

नॉलेज पार्क थाना क्षेत्र के मोमनाथल गांव निवासी भूपेंद्र मोमनाथल पर हाल ही में जिला प्रशासन ने रासुका लगाई थी। सेक्टर-22 चौड़ा गांव निवासी विकास चौधरी ने एसएसपी को दी गई शिकायत में कहा है कि उसने अपनी ब्रेजा कार भूपेंद्र मोमनाथल को एक लाख रुपये नकद लेकर दी थी। भूपेंद्र ने बैंक की शेष किस्त जमा करने के लिए कहा था।



आरोप है कि भूपेंद्र ने न तो कार की किस्तें जमा कराई और न ही इंश्योरेंस कराया। विकास का कहना है कि आरोपी भूपेंद्र या उसके परिजन उसकी कार का किसी गलत काम में भी प्रयोग कर सकते हैं। इसके चलते विकास ने 18 सितंबर को ग्रेट वेली पब्लिक स्कूल के सामने से अपनी कार वापस ले ली। आरोप है कि इसके बाद भूपेंद्र मोमनाथल ने जेल से उसके मोबाइल पर व्हाट्सएप कॉल कर धमकी दी।

आरोप है कि इसके बाद भूपेंद्र के साथी फरीदाबाद निवासी अनिल अधाना, उसका भाई रोहताश, अन्नू और भूपेंद्र की पत्नी सरिता उसके घर पर पहुंचे और धमकी देकर चले गए। इसके बाद अन्नू और रोशन ने विकास को फोन कर 35 लाख की रंगदारी मांगी। विकास ने शिकायत में कहा है कि धमकी और रंगदारी मांगे जाने से उसका परिवार भयभीत और सदमे में है। एसटीएफ की दबिश के दौरान की गई थी छुड़ाने की कोशिश पुलिस के मुताबिक, भूपेंद्र मोमनाथल खनन माफिया का संजय मोमनाथल का बेटा है।

संजय मोमनाथल अवैध खनन करता था। बाद में भूपेंद्र इसे संभालने लगा था। भूपेंद्र के खिलाफ 16 केस दर्ज हैं। जुलाई 2018 में भूपेंद्र मोमनाथल को गिरफ्तार किया गया था। लेकिन उसे मात्र दो घंटे में जमानत मिल गई थी। 8 फरवरी को एसटीएफ ने आरोपी की गिरफ्तारी के लिए घर पर दबिश दी, तो आरोपी को छुड़ाने की कोशिश की गई।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.