एलईडी की दूधिया रोशनी से जगमगाएंगी ग्रेटर नोएडा की सडकें, प्राधिकरण ने की तैयारी

ABHISHEK SHARMA

0 80

नोएडा प्राधिकरण ने क्षेत्र में स्ट्रीट लाइट को एलईडी में बदल दिया है। अब ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण भी शहर के स्ट्रीट लाइट सिस्टम को स्मार्ट बनाने जा रहा है। ग्रेटर नोएडा की स्ट्रीट लाइट को अगले साल तक एलइडी में बदल दिया जाएगा।

अधिकारियों का कहना है कि इन्हें ज्योग्राफिक इनफॉरमेशन सिस्टम से भी जोड़ा जाएगा। जिसके तहत अधिकारी कार्यालय में बैठकर शहर की स्ट्रीट लाइट की स्थिति जान सकेंगे।

फिलहाल ग्रेटर नोएडा में स्ट्रीट लाइट की हालत बेहद खराब हैं। सडके अंधेरे में डूबी रहती हैं, जिसके चलते अपराध बढ़ रहा है। इसको देखते हुए लोग खराब स्ट्रीट लाइट को दुरुस्त करने के लिए मांग कर रहे हैं। प्राधिकरण ने स्ट्रीट लाइट दुरुस्त करने के लिए अभियान भी चलाया। इसके बावजूद शहर की सड़कों पर अंधेरा बना हुआ है।

अब प्राधिकरण स्ट्रीट लाइट को एलईडी में बदलने जा रहा है। इसके लिए कंपनियों से प्रस्ताव मांगे हैं। अगले साल तक शहर की सभी स्ट्रीट लाइट को एलईडी में बदलने की योजना है। यह लाइट जीपीएस एवं केंद्रीयकृत नियंत्रण एवं निगरानी प्रणाली से जोड़ी जाएंगी।

स्ट्रीट लाइट खराब होने की जानकारी अधिकारियों को तुरंत मिल जाएगी। जीपीएस से जुड़ी होने की वजह से जगह की तलाश करना भी मुश्किल नहीं होगा। शहर में 54 हजार स्ट्रीट लाइट लगाई जाएंगी। जबकि 15 हजार एलइडी स्ट्रीट लाइट पहले भी लगाई जा चुकी हैं।

चयनित कंपनी को 7 साल तक इनकी मेंटिनेंस की भी जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। इस पर प्राधिकरण 78 करोड रुपए खर्च करेगा। प्राधिकरण स्ट्रीट लाइट पर अभी ₹30 करोड सालाना खर्च कर रहा है। एलईडी लाइट लगने से यह खर्च 15 से 18 करोड सालाना रहने का अनुमान है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.