नए मोटर व्हीकल एक्ट और पुलिस वालों ने मिलकर ली युवक की जान, पढ़ें पूरा मामला

Abhishek Sharma / Rahul Kumar Jha

0 68

नोएडा में वाहन चेकिंग को लेकर पुलिस से नोकझोंक में एक युवक को हार्ट अटैक पड़ा गया। इसके बाद युवक को अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। बताया जा रहा है कि साफ्टवेयर मार्केटिंग का काम करने वाला युवक कार में अपने पिता के साथ जा रहा था। आरोप है कि पुलिसकर्मियों ने कार में डंडा मारकर रोका तो पिता-पुत्र ने इस पर आपत्ति की। पुलिसकर्मियों से बहस के दौरान युवक को हार्ट अटैक आया और और वह गिर पड़ा। इसके बाद वहा मौजूद लोगो की मदद से उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत गई। हालांकि पुलिस इस मामले में अभी भी चुप्पी साधे हुए हैं।


वाहन चेकिंग के दौरान पुलिस से नोकझोंक में युवक की हार्ट अटैक से मौत हो गई। आरोप है कि सॉफ्टवेयर कंपनी में कार्यरत गौरव अपने माता-पिता के साथ सेक्टर-62 से लौट रहे थे। जांच के लिए पुलिसकर्मियों ने उनकी कार पर डंडा मारते हुए रुकवाया। इस पर उनकी पुलिस से नोकझोंक हो गई। इसी दौरान गौरव को दिल का दौरा पड़ गया।

नोएडा सेक्टर-52 के शताब्दी विहार में मूलचंद शर्मा परिवार के साथ रहते हैं। उनके 34 वर्षीय पुत्र गौरव गुरुग्राम की सॉफ्टवेयर कंपनी के मार्केटिंग विभाग में काम करते थे। गौरव के रिश्ते के भाई अंकुर शर्मा का कहना है कि रविवार को गौरव अपने माता-पिता के साथ कार से एनएच-24 से सेक्टर 62 की ओर आ रहे थे।

आरोप है कि नोएडा की तरफ मुड़ते ही रास्ते में कुछ पुलिसकर्मी खड़े थे, जिन्होंने चलती गाड़ी पर जोर से डंडा मारकर रोका। गौरव और उसके पिता ने इसका विरोध किया। इस बात पर नोकझोंक इतनी बढ़ गई कि वहां मौजूद पुलिसकर्मी अभद्रता पर उतर आए।

गहमागहमी के बीच अचानक गौरव बेसुध होकर गिर पड़े और उनकी सांसें थम गईं। गौरव की हालत देखकर माता-पिता सकते में आ गए। परिजनों का कहना है कि पुलिसकर्मी मदद करने के बजाय वहां से चुपचाप चले गए। आसपास के लोग मदद के लिए पहुंचे और गौरव को पहले फोर्टिस और फिर कैलाश अस्पताल पहुंचाया गया।

डॉक्टरों ने दिल के दौरे से गौरव की मौत की जानकारी दी तो माता-पिता के पैरों तले जमीन खिसक गई। कैलाश अस्पताल प्रबंधन का कहना था कि गौरव को जब अस्पताल में लाया गया, तब उसकी मौत हो चुकी थी। समाचार लिखे जाने तक उनकी ओर से इस मामले में मुकदमा दर्ज कराने के लिए कोई तहरीर थाने में नहीं दी गई थी।

इस बारे में गौतमबुद्धनगर के एसएसपी वैभव कृष्ण ने कहा कि सेक्टर-58 थाना पुलिस की चेकिंग के दौरान ऐसी कोई घटना होने की जानकारी नहीं मिली है। यदि परिजनों की कोई शिकायत है तो वह बताएं, कार्रवाई की जाएगी।

यातायात नियमों के उल्लंघन पर बढ़े जुर्माने के विरोध में सोशल मीडिया पर लोगों का गुस्सा फूट रहा है। लोग ट्विटर, फेसबुक आदि सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर गुस्सा दिखा रहे हैं और बढ़े जुर्माने के विरोध में संदेश लिख रहे हैं।

इस हादसे के चलते गौरव की छह साल की मासूम बेटी ताशी के सिर से पिता का साया उठ गया है। परिजनों द्वारा अभी इस बात का प्रयास किया जा रहा था कि मासूम को घटना के बारे में पता ना चले। लेकिन घर पर अचानक से बढ़ती भीड़ और सभी की नम आंखों को देखकर ताशी भी अनहोनी की आशंका को भांप रही थी और उसकी भी आंखें नम थी।

एसीएमओ डॉ. भारत भूषण ने कहा कि हार्ट अटैक अचानक होने की संभावना ब्लड प्रेशर या दिल की बीमारी से पीड़ित मरीजों को ज्यादा होती है। बहुत ही कम ऐसे लोग होते हैं कि जिन्हें पहले इस तरह की समस्या न हुई हो और हार्ट अटैक आ जाए। ऐसे लोगों में तनाव में ब्लड प्रेशर अचानक बढ़ जाता है जिससे हार्ट अटैक आ सकता है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.