कोविड-19 की तैयारियों पर बोले अपर मुख्य सचिव, यह है उत्तर प्रदेश की वर्तमान स्थिति

Pravendra kumar singh

0 104

अपर मुख्य सचिव, गृह व सूचना अवनीश अवस्थी ने बताया कि कोविड केयर फण्ड में पूरे प्रदेश से योगदान आ रहा है, जिससे टेस्टिंग फैसिलिटी लेवल 1, 2 या 3 लेवल हॉस्पिटल और मजबूती से तैयार किये जाएंगे। वहीं पी.पी.ई. और एन 95 मास्क और थर्मल ऐनलाईज़र और वेंटिलेटरों की आवश्यक्तओं को पूरा किया जाएगा। सभी मंडलीय स्तर पर जिला मुख्यालयों के जिला अस्पतालों में कोरोना टेस्टिंग लैब स्थापित की जायेगी। 10 मेडिकल कॉलेजों में टेस्टिंग फैसिलिटीज जल्द से जल्द शुरू की जाएंगी और बाकी जहाँ टेस्टिंग लैब हैं, वो अपग्रेड की जाएंगी।

उन्होंने आगे बताया कि कुल मिलाकर 2 करोड़ 86 लाख 55 हजार 520 राशन कार्ड पर खाद्य वितरण किया गया है। वहीं तब्लीगी जमात के 1551 लोगों में से 1257 चिन्हित करके क्वारंटाइन में भेज दिए गये हैं और जो विदेशी 259 लोग हैं, उनके पासपोर्ट के जब्त कर लिये गए हैं।

अब तक 11728 कैदियों को बेल या पैरोल पर छोड़ दिया गया है। फल सब्जी वितरण के सन्दर्भ में 41162 वाहनों द्वारा फल सब्जी का वितरण किया जा रहा है, जिसमें 13274 वाहन मोबाइल हैं। 3216000 लीटर दूध का वितरण हो रहा है, बाकी 47815 किराना स्टोर्स हैं जिनसे होम डिलीवरी की जा रही है।

लॉक डाउन के चलते उत्तरप्रदेश में 230 FIR दर्ज कर गयी हैं। इसके अलावा उद्योग जगत में उत्तर प्रदेश में 23385 उद्द्योग वेतन का वितरण कर दिया गया है। और 3227 इकाइयाँ रह गयीं हैं उनसे भी वेतन निस्तारण कर दिया जायेगा। और 4130 उद्योगों को चालू कर दिया गया है, और अभी तक सभी रेजिस्टर्ड श्रमिकों के खाते में 1000 रुपये पहुंच दिये गये हैं।

2765 कम्युनिटी किचन चालू हैं और 4243 आश्रय स्थल, उत्तर प्रदेश में चालू हैं जिनकी जिओ टैगिंग कर दी गयी है। अब ग्राम प्रधानों और पार्षदों से संपर्क साधा गया हे। जिससे कि जो लोग बाहर से आये हैं, उनका डाटा मिल सके और उनकी स्क्रीनिंग और समस्या का निस्तारण हो सके। मुख्यमंत्री हेल्पलाइन न. 1076 पर लगातार युद्ध स्तर पर काम कर रही है।

उन्होंने बताया उत्तर प्रदेश में 314 केस आये हैं, जिसमे तब्लीगी जमात के 166 केसिस पॉजिटिव आये हैं। उत्तर प्रदेश में अब तक 22 मरीज ठीक हुए हैं। 6073 में से 5095 सैंमपल नेगेटिव आये , बाकी टेस्टिंग में हैं। सभी फ्रंटलाइन वारियर्स का धन्यवाद करते हैं। सभी मैडीकल चिकित्सा अधिकारी तत्पर हैं।18001805145 उत्तर प्रदेश की कोरोना हेल्पलाइन और आज से कॉउंसलिंग भी सुचारु रूप से जारी है। बड़ी संख्या में मरीज असिम्पटोमैटिक आते हैं, उनके लिए अलग से इंतज़ाम किये जायेंगे और डॉक्टर्स स्टाफ पैरामेडिक टीम्स तुरंत व्यवस्था की जाएगी ।

10000 आइसोलेशन बेड्स की व्यवस्था है। और हर जिले में डेडिकेटेड ऐल-1 हॉस्पिटल और मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल को एल 2 हॉस्पिटल में तब्दील किया गया है।लेवल 3 हॉस्पिटल भी तैयार हैं और यह कहते हए अपनी बात खत्म की कि संसाधनो का सही उचित मात्रा में प्रयोग किया जायेगा।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.