किसानों , जनसमस्याओं को लेकर कांग्रेस ने नोएडा विधायक के कार्यलय पर किया जोरदार प्रदर्शन 

ROHIT SHARMA

0 205

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी, प्रदेश के किसानों की समस्याओं को लेकर आंदोलन कर रही है। जिसमें ग्राम पंचायत स्तर तक अधिक से अधिक किसानों से उनकी समस्याएं एवं समाधान पर मांग पत्र भरवाए गए हैं जिसमें प्रदेश के किसानों ने अपनी निम्न समस्याओं को बताते हुए सरकार से उसके समाधान की अपेक्षा की है। इस संदर्भ में महानगर कांग्रेस कमेटी के कार्यकर्ताओं ने आज नोएडा गौतम बुद्ध नगर क्षेत्र के किसानों, गांवों एवं सैक्टरों के लोगों ने जो मांग एवं समस्याएं उठाई है |

उनमें किसानों के सबसे प्रमुख समस्या छुट्टा आवारा जानवरों द्वारा फसलों की बर्बादी है। पिछले तीन-चार वर्षो में कृषि लागत कई गुना बढ़ी। पिछले 3 सालों से गन्ने के मूल्य में कोई बढ़ोतरी नहीं हुई है नहीं समय से भुगतान हो पा रहा है। गन्ना किसान बेहद परेशान है।लागत और फसलों के दाम में भारी अंतर के चलते किसान आत्महत्या को मजबूर है। सरकार कर्ज माफी की बातों को अमल नहीं कर रही है। फल सब्जी के रखरखाव कि सरकारी व्यवस्था न होने  के चलते फसलों का बड़ा हिस्सा नष्ट हो जाता है तो वहीं निजी कोल्ड स्टोरेज रखने में आमदनी का बड़ा हिस्सा खर्च हो जाता है ।ओला बारिश या अन्य आपदाओं के चलते किसानों की फसलें तबाह हो रही हैं,लेकिन फसल बीमा के नाम पर बहुत ही कम किसानों को लाभ मिल पा रहा है। सारा माल बीमा कंपनी ले जा रही हैं।

किसानों की ओर से कॉन्ग्रेस के कार्यकर्ता मांग करते हैं कि सरकार छुट्टा आवारा जानवरों से फसलों को बचाने हेतु किसानों को रखवाली भत्ता दे एवं ग्राम स्तर तक गौशालाओं का निर्माण करवाएं।लागत पर खाद, बीज, डीजल बिजली कीटनाशक पर 50% की सब्सिडी सुनिश्चित की जाए। गेहूं धान गन्ना एवं अन्य पशुओं के मूल्य का भुगतान 15 दिन में सरकार सुनिश्चित करे।

सभी किसानों की पूर्ण कर्जमाफी सुनिश्चित की जाए। न्याय पंचायत स्तर पर फल सब्जी की फसलों को बचाने हेतु सरकारी कोल्ड स्टोरेज की व्यवस्था की जाए अन्य अनाजों के लिए गोदाम की स्थापना हो। किसानों के हित के लिए किसान आयोग का गठन किया जाए। रवि और खरीफ की फसल की बुवाई के पूर्व सरकार किसान आयोग के साथ बैठक करके किसानों की समस्याएं सुने एवं कांग्रेसी सरकारों की तर्ज पर सभी फसलों में बोनस की व्यवस्था हो। फसल बीमा का बजट बढ़ाया जाए तथा प्रत्येक किसान को उसकी नुकसान हुई फसल पर मुआवजा दिया जाना सुनिश्चित किया जाए।

नोएडा के मूल किसानों को रोज रोज नोएडा प्राधिकरण के अधिकारी गांव में जाकर उजाड़ने का काम कर रहे हैं तुरंत उस पर रोक लगाई जाए। नोएडा प्राधिकरण पर चल रहे किसानों के धरने की सभी मांगों को मांना जाए। नोएडा के सभी गांव सेक्टरों की तर्ज पर विकसित किए जाएं। नोएडा के सभी गांव की आबादी जैसी है जहां है के आधार पर ही छोड़ देनी चाहिए।

नोएडा में जबसे कमिशनरी सिस्टम लागू हुआ है तब से कानून व्यवस्था बहुत खराब हो गई है उसको तुरंत दुरुस्त किया जाए। सभी सेक्टरों एवं गांव में पीने योग्य पानी की सुनिश्चित व्यवस्था की जाए। नॉएडा  के सरकारी अस्पताल में संविदा कर्मचारियों को पिछले 5 महीनों से वेतन नहीं मिला है वो वेतन तुरन्त दिया जाए तथा उनको काम पर वापस रखा जाए। स्कूलों की फीस को कम किया जाए जिससे गरीब एवं किसानों के बच्चों को उचित शिक्षा मिल पाए।

ऐसी बहुत सारी मांगे हैं जिनको नोएडा विधायक पंकज सिंह के माध्यम से उत्तर प्रदेश की योगी सरकार तक पहुंचाने के लिए आज विधायक आवास का घेराव किया गया एवं विधायक के लखनऊ में होने के कारण उनके बड़े भाई अनिल सिंह द्वारा ज्ञापन लिया गया। आज के विधायक घेराव में शामिल होने वालों में अध्यक्ष शाहबुद्दीन, दिनेश अवाना, पवन शर्मा, पुरुषोत्तम नागर, सुनीता शारदा, राजकुमार भारती, ललित अवाना, लियाक़त चौधरी, सतेंद्र शर्मा, अशोक शर्मा, रामकुमार तंवर, प्रमोद शर्मा,सोबी यादव, मधुराज, राजकुमार त्यागी, डॉ सीमा, जितेन्द्र अम्बावत, सोबेन्द्र अवाना, नरेन्द्र भाटी, मोहम्मद अली, साकिर सैफ़ी, रिजवान चौधरी, परवेज,इंदरजीत तिवारी, आशुतोष, सुभाष शर्मा,समीर, सुनील, जगपाल चौहान, अरुण नागर, दयाशंकर पाण्डेय, विक्रम चौधरी सहित दर्जनों कार्यकर्ता शामिल हुए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.