ग्रेटर नोएडा में वेदार्णा फाउंडेशन ने किया जनसँख्या नियंत्रण कार्यक्रम का आयोजन

Abhishek Sharma

73

Greater Noida (20/01/19) : ग्रेटर नोएडा के सेक्टर सिग्मा-4 स्थित ग्रैंड फोर्ट सोसाइटी में वेदारणा फाउंडेशन का जनसँख्या नियंत्रण को लेकर एक जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस दौरान सोसाइटी व अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे। वेदारना फाउंडेशन के संस्थापक व आईटीएस इंजीनियरिंग कॉलेज के प्रोफेसर डॉ कुलदीप मलिक ने कार्यक्रम की शुरुआत उपस्थित अतिथियों को पौधा भेंट करने के साथ की।

डॉ कुलदीप मलिक ने लोगों को जनसँख्या नियंत्रण के प्रति जागरूक करते हुए कहा कि हमारे देश में आज के समय में सबसे बड़ी समस्या जनसँख्य वृद्धि है। हर दस साल बाद जनगणना के आंकड़े चौंकाने वाले हैं। देश में लगातार जनसँख्या वृद्धि हो रही है और सरकार इसके प्रति बिलकुल भी गंभीर दिखाई नहीं पड़ रही है। बेरोजगारी के पीछे जनसंख्या वृद्धि होना एक बहुत बड़ा कारण है। अगर सरकार इसके प्रति गंभीर नहीं हुई तो इसके बुरे परिणाम जल्द ही देश के लोगों को झेलने पड़ सकते हैं।



उन्होंने कहा कि जनसँख्या के कारण ही देश में लगातार प्रदुषण बढ़ रहा है और हालात ये हैं कि दुनिया के सबसे अधिक प्रदूषित शहरों में भारत के 13 शहर हैं। इन शहरों में सबसे ऊपर कानपुर का नाम आता है और तीसरे स्थान पर दिल्ली काबिज है। ये एक बेहद चिंता का विषय है।  सरकार को 2 बच्चों का कानून लागू कर देना चाहिए जिससे कि यह देश बचाया जा सके।

 

प्रदुषण के चलते हमारे देश में सबसे अधिक कैंसर के रोगी हैं, ये आंकड़ा पिछले 10 सालों में काफी हद तक बढ़ा है। आज कल बच्चों में भी डायबिटीज देखने को मिल रही है। क्योंकि आज के जो बच्चे हैं वो शुद्ध हवा में सांस नहीं ले पा रहे है जिसके चलते देश में रोगियों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है।

 

उन्होंने कहा कि हमारे बुजुर्ग कुएं से पानी सींचकर पीते थे। उसके बाद कुओं का चलन बंद हुआ फिर नल और हैंडपंप चलन में आए क्योंकि पानी का स्तर लगातार निचे जा रहा है। अब पानी बोतलों में मिलने लगा है। प्रतिवर्ष पानी का स्तर 3 मीटर नीचे जा रहा है और पानी जितना नीचे जाएगा उतना ही दूषित होगा।
Loading...

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.