प्राधिकरण ने नोएडा को स्वच्छ सर्वेक्षण रिपोर्ट में टॉप टेन में शामिल करने के लिए कार्यशाला का किया आयोजन

Abhishek Sharma (Photo-Video) Lokesh Goswami Tennews New Delhi :

101

नोएडा प्राधिकरण ने सेक्टर 6 स्थित इंदिरा गांधी कला केंद्र में एक कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में नोएडा के सभी आरडब्ल्यूए पदाधिकारियों को बुलाया गया और शहर की बड़ी समस्या का निस्तारण करने के लिए चर्चा की गई।



कार्यशाला में चर्चा की गई की स्वच्छ सर्वेक्षण रिपोर्ट में नोएडा की रैंक को टॉप 10 में शामिल किस तरह से किया जाए। बता दें कि वर्ष 2017 की स्वच्छ सर्वेक्षण रिपोर्ट में नोएडा का स्थान 324 था। जबकि पिछले वर्ष संरक्षण रिपोर्ट में नोएडा की 150वी रैंक रही। प्राधिकरण का मानना है कि स्वच्छ सर्वेक्षण रिपोर्ट में नोएडा को टॉप टेन में शामिल करने के लिए कार्य किया जाएगा। जिसमें यहां के लोगों की मदद एवं सहयोग की जरूरत है।

कार्यशाला में नोएडा शहर के सभी आरडब्लूए और 5000 वर्ग मीटर से बड़े व्यवसायिक प्लॉट के मालिकों को बुलाया गया था। सेक्टरों में कूड़े के एग्रीगेशन के लिए कूड़े को तीन हिस्सों में अलग-अलग करने की अपील की गई है।

जैविक अजैविक और डेमो स्टिक 1000 इमेज अलग अलग कर सेट किया जाएगा। नोएडा प्राधिकरण ने एग्रीगेशन पर ज्यादा जोर देते हुए सभी आरडब्लूए से कूड़े का निस्तारण सेक्टरों के अंदर ही करने की बात कही है।

नोएडा प्राधिकरण की सीईओ रितु माहेश्वरी ने कहा कि कूड़े के निस्तारण को लेकर सभी आरडब्ल्यूए अधिकारी को बुलाया गया। कूड़े के निस्तारण की व्यवस्था सेक्टरों में नहीं होगी तो नियमानुसार उन पर कार्रवाई का प्रावधान है।

उन्होंने बताया कि स्वच्छता सर्वेक्षण रिपोर्ट में नोएडा की रैंक को टॉप टेन में लाने के लिए कार्यशाला आयोजित की गई है। शहर को स्वच्छ बनाने के लिए नोएडा प्राधिकरण लगातार प्रयासरत है और इस पर कार्य वी किया जा रहा है। नोएडा हाईटेक शहर है और इसकी खूबसूरती को बनाए रखना हमारे लिए चैलेंज है।

नोएडा में कूड़े का प्रबंधन करने के लिए शहर की आरडब्लूए, फोनरवा और अन्य संस्थाओं से सुझाव मांगे गए। और सेक्टर 15 के अधिकारियों ने कार्यशाला में प्रस्तुतीकरण दिया कि कि तरह से डोर टू डोर जाकर कचरे को उठाया जाए। जिससे कि स्वच्छ सर्वेक्षण रिपोर्ट में नोएडा की रैंक बढ़ सके।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.