दसवीं-बारहवीं में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले विद्यार्थियों को किया गया सम्मानित

Abhishek Sharma / Photo & Video by Baidyanath Halder

0 341
Greater Noida (19/05/19) : ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क स्थित जीएनआईओटी ग्रुप ऑफ़ इंस्टीटूशन्स में ध्रुव क्लासेस की ओर से यंग अचीवर्स एक्सीलेंस अवार्ड – 2019 का आयोजन किया गया। इस दौरान यूपी व सीबीएसई बोर्ड में 60 प्रतिशत से अधिक अंक पाने वाले सैकड़ों छात्र-छात्राओं को सम्मनित किया गया।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में दादरी विधायक तेजपाल नागर , विशेष अतिथि ऑक्सफ़ोर्ड ग्रीन  की मैनेजिंग डायरेक्टर नूतन भाटी , राष्ट्रिय शैक्षिक महासंघ माध्यमिक शिक्षा के अध्यक्ष संतोष कुमार सिंह व जीएनआईओटी ग्रुप ऑफ़ इंस्टीटूशन्स के वाईस चेयरमैन राजेश गुप्ता  मौजूद रहे।

 

मुख्य अतिथि विधायक तेजपाल नागर व विशेष अतिथि ऑक्सफ़ोर्ड ग्रीन  की मैनेजिंग डायरेक्टर नूतन भाटी द्वारा यूपी व सीबीएसई बोर्ड के 60 प्रतिशत से अधिक अंक पाने वाले छात्र-छात्राओं को मेडल व सर्टिफिकेट देकर सम्मानित किया। मैडल व सर्टिफिकेट पाकर सभी विद्यार्थी काफी प्रसन्न नजर आए।

इस दौरान विधायक तेजपाल नागर ने कहा कि पढ़ाई और परीक्षा में स्कूलों की होड़ से छात्र-छात्राएं व अभिभावक भी तनाव में रहते हैं। नर्सरी से ही तनाव देखने को मिलता है जबकि ऐसा होना ठीक नहीं है। पढ़ाई के साथ-साथ खेलकूद समेत अन्य गतिविधियों में भी विद्यार्थियों को भाग लेना चाहिए। पढ़ाई के साथ संस्कार भी जरूरी हैं। उन्होंने कहा कि यहां का विधायक बनने से पहले मैं शिक्षक था और प्रिंसिपल के पद पर रहते हुए रिटायर  हुआ हूँ  और शिक्षा के क्षेत्र में अपनी आधी ज़िंदगी लगा दी।



उन्होंने आगे कहा कि यदि किसी के 60-70 फीसदी अंक आते हैं तो माना जाता है कि अच्छे नंबर नहीं आए। इससे छात्र-छात्राएं व अभिभावक निराश हो जाते हैं। जबकि सिर्फ अच्छे अंक आना ही सफलता ही सीढ़ी नहीं है। कम अंक वाले भी बड़ा काम कर सकते हैं। हर किसी की अलग-अलग भूमिका होती है।

वहीं ध्रुव क्लासेज के मैनेजिंग डायरेक्टर ध्रुव रॉय ने छात्रों को सीख दी कि पढ़ाई बेहद जरूरी है, लेकिन स्वस्थ रहना भी जरूरी है। इसके लिए प्रतिदिन योग के साथ-साथ अच्छा भोजन भी करें। नियमित दिनचर्या अपनाने से अच्छे ढंग से काम भी होगा।  उन्होंने कहा कि हम सबसे पहले अपनी क्लास में कोशिश  छात्र सबसे पहले अच्छा इंसान बने। अगर कोई भी अच्छा इंसान बन जाए तो फिर उस बच्चे के साथ ज्यादा माथापच्ची करने की जरूरत नहीं पड़ती है।

उन्होंने कहा कि कई वर्षों से हम विद्यार्थियों को पढ़ा रहे हैं , छात्र के साथ-साथ  ईमानदारी और निष्ठां भाव से पढ़ाएं तो 60 प्रतिशत अंक लाने वाला बच्चा भी 90 प्रतिशत वालों की बराबरी कर सकता है। उन्होंने कहा की कई वर्षों से ध्रुव क्लासेज के माध्यम से सुबह 7 से रात के 11 बजे तक छात्र-छात्राओं को  पढ़ाते है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.